इस्लामाबादः  25 जुलाई को पाकिस्तान आम चुनाव संपन्न हुए. जहां इमरान खान की तहरीक-ए-इंफाफ (पीटीआई) सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पीटीआई के प्रमुख इमरान खान को फोन कर इस जीत पर बधाई थी. पीटीआई ने 116, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और शहबाज शरीफ की पार्टी  पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N)  को 64, बिलावल भुट्टो जरदारी की पार्टी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) को 43 सीटें मिलीं. बता दें पाकिस्तान असेबंली में कुल 342 सीटें हैं जिनमें से 272 में से 270 सीटों पर चुनाव हुआ. पाकिस्तान में इन सीटों में से 60 सीटें महिलाओं और गैर मुस्लिम समुदाय के लिए रिजर्व हैं. बताया जा रहा है कि इमरान खान 11 अगस्त को प्रधानमंत्री की शपत ले सकते हैं. हालांकि अभी उन्हें गठबंधन कर 137 का आंकड़ा छूना है.

बता दें 25 जुलाई को पाक में वोटिंग सुबह साढ़े 8 बजे (भारतीय समयानुसार) शुरू होकर शाम 6 बजे तक चली. इस बार नेशनल असेंबली की 272 सीटों में से 270 के लिए 3,765 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे. वहीं 4 प्रांतीय विधानसभाओं की 577 सीटों के लिए 8,895 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाई. 1500 उम्मीदवार आतंकी या फिर कट्टरपंथी संगठनों से वास्ता रखते हैं. मुंबई हमले के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद का बेटा और दामाद भी चुनाव लड़ रहे थे हालांकि वह खाता तक नहीं खोल पाए.

पाकिस्तान में चुनाव वाले दिन कुल 85,307 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. पोलिंग बूथ की सुरक्षा और शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए 3 लाख 70 हजार से ज्यादा पाकिस्तानी आर्मी के जवान और करीब साढ़े 4 लाख पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया. पाकिस्तान चुनाव के इतिहास में यह अभी तक सबसे बड़ी सैन्य तैनाती थे. चुनाव की ड्यूटी में 16 लाख से ज्यादा चुनावकर्मियों को लगाया गया था.

गौरतलब है कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में करीब साढ़े 10 करोड़ वोटर हैं. इनमें करीब 6 करोड़ पुरुष और साढ़े 4 करोड़ महिला मतदाता हैं. पाकिस्तान में 36 लाख 30 हजार गैर-मुस्लिम वोटर भी हैं. इसमें हिंदू, ईसाई और सिख शामिल हैं. सीटों के लिहाज से पंजाब पाकिस्तान का सबसे बड़ा प्रांत है. यहां नेशनल असेंबली की 141 और प्रांतीय विधानसभा की 297 सीटें हैं. सिंध में नेशनल असेंबली की 61 और प्रांतीय असेंबली की 130 सीटें हैं. खैबर पख्तूनख्वा में नेशनल असेंबली की 39 और प्रांतीय असेंबली की 99 सीटें हैं. बलूचिस्तान में नेशनल असेंबली की 16 और प्रांतीय विधानसभा की 51 सीटें हैं. फाटा में नेशनल असेंबली की 12 सीटें हैं और इस्लामाबाद में 3 सीटें हैं.

इस बार चुनाव से पहले अलग-अलग जगह हुए आतंकी हमलों में 170 लोग मारे गए. इस चुनाव में महिलाएं भी पूरे दमखम से ताल ठोक रही हैं. 171 सीटों पर महिला उम्मीदवार चुनाव लड़ रही हैं. इस बार 13 ट्रांसजेंडर भी चुनाव लड़ रहे हैं. यह भी सच है कि पाकिस्तान में अभी तक कोई भी प्रधानमंत्री अपने पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है. नवाज शरीफ तीन बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके हैं. बहरहाल आज वोटिंग होने के महज कुछ घंटों बाद वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी.

पाकिस्तान में आम चुनावों से पहले फेसबुक ने डिलीट किए हाफिज सईद की पार्टी के अकाउंट्स