काबुल.अफगानिस्तान में सोमवार का दिन पूरे देश को दहलाने वाला रहा जहां तीन अलग-अलग स्थानों पर आत्मघाती बम धमाकों में 10 पत्रकारों समते 40 लोगों की मौत हो गई. इन पत्रकारों में बीबीसी, एपी एजेंसी से जुड़े पत्रकार भी थे. राजधानी काबुल में हुआ हमला पत्रकारों पर हुआ अब तक का सबसे बड़ा हमला है. अफगानिस्तान में पत्रकारों की सुरक्षा समिति की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले वर्ष 2017 में पत्रकारों पर हुए हमलों में भारी इजाफा हुआ है. पिछले वर्ष हुए हमलों में अगल अगल मीडिया संस्थानों के 20 पत्रकार मारे गए थे. सोमवार को हुए धमाकों में पत्रकारों के साथ 30 आम नागरिकों की मौत भी हो गई है. तीनों आत्मघाती हमलों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली है.

सोमवार को हुए तीन आत्मघाती बम धमाकों में पहला आत्मघाती धमाका काबुल में नेशनल डायेक्टोरेट ऑफ सिक्योरिटी के ऑफिस के पास हुआ. जिसके बाद इस हमले की कवरेज कर रहे पत्रकारों को निशाना बनाते हुए दूसरे आतंकी ने खुद को उड़ा लिया. इस दूसरे विस्फोट में 10 पत्रकारों के सहित 40 लोगों की मौत हो गई. मारे गए पत्रकारों में एक बीबीसी और एक न्यूज एजेंसी एपी का पत्रकार था. जिसके बाद तीसरा आत्मघाती धमाका कंधार के एक मदरसे में किया गया. इस बम धमाके में मदरसे में पढ़ने वाले 11 लोगों की मौत हो गई. सोमवार को हुए तीनों धमाकों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली है. इससे पहले भी 8 दिन पहले काबुल के वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर पर एक हमला हुआ था जिसमें 60 लोगों की मौत हो गई थी.

आपको बता दें कि 14 अप्रैल 2018 से अब तक अफगानिस्तान में कुल 6 हमले हो चुके हैं. एक हफ्ते पहले ही काबुल में हुए बम धमाके में 60 लोगों की मौत हो गयी थी और 129 लोग घायल हुए थे. इस हमले के तुरंत बाद पुल ए खुमरी शहर में भी धमाका हुआ था जिसमें 5 लोगों की मौत हो गयी थी और 6 लोग घायल हो गए थे. 20 अप्रैल को भी एक अज्ञात हमलावर ने काला ए नाउ के वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर पर हमला कर दिया था जिसमें एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गयी थी. 19 और 17 अप्रैल को भी वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर पर इस तरह के हमले हुए थे जिसमें 2 पुलिस अधिकारियों की मौत हो गयी थी और दो पुलिसवालों समेत 3 IEC के कर्मचारियों का अपहरण कर लिया गया था.

पाकिस्तान में SAARC समिट का हिस्सा नहीं बनेगा भारत, एक साथ संभव नहीं आतंकवाद और बातचीतः सूत्र

98 सीरियल ब्लास्ट का दोषी बना रहा था पीएम नरेंद्र मोदी को मारने का प्लान, ऑडियो वायरल होने के बाद अरेस्ट