आगरा. उत्तर प्रदेश के लखनऊ- आगरा एक्सप्रेसवे की सर्विस लेन अचानक नीचे धंस गई. जहां तेज गति से आ रही एक कार उसमें जा गिरी और बीच गड्ढे में जाकर फंस गई. गड्ढा करीब 50 फीट गहरा था लेकिन गनिमत रही कि कार सीधा गिरकर गड्ढे में फंस गई जिस वजह कार सवार लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया. बता दें कि इस एक्सप्रसवे का निर्माण यूपी की अखिलेश सरकार ने किया था. इस एक्सप्रेस वे के परीक्षण के दौरान एक लड़ाकू विमान भी लैंड कराया जा चुका है.

मिली जानकारी के अनुसार, यह मामला डौकी इलाके की वाजिदपुर पुलिया का है. चार लोग मुंबई से एक एसयूवी कार खरीदकर कन्नौज जिले आ रहे थे. कार सवार रचित के अनुसार, वे लोग जीपीएस के सहारे आ रहे थे कि अचानक नेटवर्क चले जाने से उनकी जीपीएस रुक गया. जिसकी वजह से वे गलती से सर्विस लेन पर आ गए. गाड़ी तेज गति से चल रही थी कि अचानक उनकी गाड़ी एक 50 फीट गड्ढे में जा गिरी.

स्थानीय लोगों को जैसे ही हादसे की पता लगी वे घटनास्थल पहुंचे. इसके साथ ही पुलिस को भी सूचना दी गई. पुलिस और लोगों ने मिलकर किसी तरह कार सवार लोगों को बाहर निकाला. प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो गड्ढा काफी ज्यादा गहरा है. ऐसे में अगर तेज स्पीड से आ रही कार थोड़ी भी तेढ़ी होती तो सीधा गड्ढे में जाती और कार सवार सभी लोगों को जान बचना काफी ज्यादा मुश्किल हो जाती.

गौरतलब है कि सूबे में साल 2012 में समाजवादी पार्टी सरकार ने एक्सप्रेसवे को तैयार किया था. इस एक्सप्रसवे को रेकॉर्ड समय 22 महीनों के भीतर बनाया गया था. जिसमें करीब 13 हजार 200 करोड़ रुपए का खर्चा आया था. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस एक्सप्रेसवे का शुभारंभ किया था.

क्या मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, मायावती पर चलेगा सुप्रीम कोर्ट की अवमानना का केस?

कन्नौजः आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर बड़ा हादसा, टूर पर जा रहे छात्रों को बस ने कुचला, 7 की मौत

वीडियो क्रेडिट – न्यूज टाइम नेटवर्क