नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली में एक गिरोह लोगों के आधार कार्ड की डिटेल से फर्जी सिम के जरिए इंश्योरेंस बोनस देने के नाम पर ठग रहा था. पुलिस ने गैंग के तीन सदस्यों को धर दबोचा. पूछताछ में आरोपियों ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए. उन्होंने पुलिस को बताया कि वह लोग किस तरह से लोगों के आधार कार्ड के जरिए फर्जी सिम ले रहे थे और इंश्योरेंस कंपनियों की ओर से बोनस दिए जाने के नाम पर लोगों को ठग रहे थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गिरफ्त में आया एक आरोपी मोबाइल फोन की दुकान चलाता है, दूसरा इंश्योरेंस एजेंट रह चुका है और तीसरा उसका सहयोगी है. डीसीपी (सेंट्रल) मंदीप सिंह रंधावा ने बताया कि चांदनी महल निवासी एक शख्स ने पुलिस से इस गिरोह की शिकायत की थी. शिकायत में बताया गया कि उसके पास एक फोन आया और उससे कहा गया कि इंश्योरेंस स्कीम के तहत उसे 68 हजार रुपए का बोनस दिया जा रहा है. इसके लिए पहले उसे 28 हजार रुपए की सिक्योरिटी फीस जमा करनी होगी.

जिसके बाद उसने पुलिस को इसकी जानकारी दी. पुलिस ने कथित नंबर को ट्रैक किया तो पता चला कि वह सिम कार्ड फर्जी आईडी पर चल रहा था. डीसीपी ने बताया कि उन्होंने उस अकाउंट का भी पता लगाया जिसमें शिकायतकर्ता को रुपए जमा कराने के लिए कहा गया था. वह एक ट्रैवल एजेंसी के नाम पर दर्ज था. ट्रैवल एजेंसी के दर्ज पते के आधार पर पुलिस ने एजेंसी के मालिक रवि अधिकारी को पकड़ा. रवि से पूछताछ में पुलिस को मनीष बंसल और हेमंत के बारे में पता चला.

मनीष बंसल की शास्त्री नगर इलाके में मोबाइल की दुकान है. उसी की दुकान से फर्जी आईडी पर सिम जारी किए गए थे. इन्हीं सिम कार्ड्स से आरोपी लोगों को अपना शिकार बनाते थे. रवि ने पुलिस को बताया कि बतौर इंश्योरेंस एजेंट रहते हुए उसके पास कुछ लोगों की पर्सनल और अकाउंट डिटेल थी. बंसल ने हेमंत को 200 रुपए प्रति सिम कार्ड बेचा था. रवि इन्हीं नंबरों से लोगों को फोन कर इंश्योरेंस कंपनी की ओर से बोनस और इनाम मिलने आदि का झांसा देता था.

हेमंत और रवि ने पुलिस को बताया कि उन्होंने इसी साल देवली इलाके में ट्रैवल एजेंसी खोली थी. एजेंसी घाटे में चल रही थी, लिहाजा उन्होंने पैसा कमाने के लिए धोखाधड़ी का रास्ता चुना. वह लोग बंसल के संपर्क में आए, जिसने उन्हें फर्जी आईडी पर सिम कार्ड देने का वादा किया. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने लोगों को फंसाने के लिए 15-20 लोगों को फोन करने के लिए नौकरी पर रखा था. पुलिस ने आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

BJP नेता मुकुल रॉय का रिश्तेदार गिरफ्तार, रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का आरोप