मुंबई: फिल्मों में अपनी बेमिसाल कॉमेडी से सबको हंसाने वाले अभिनेता राजकुमार यादव शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान काफी नाराज दिखे. राजपाल यादव यूपी के शाहजहांपुर में एक प्रेस कंफ्रेंस के दौरान काफी चेक बाउस मामले को खुद को दोषी करार दिए जाने पर सफाई देते नजर आए. राजपाल यादव ने अपनी सफाई में कहा कि उन्हें एक साजिश के तहत फंसाया गया है. इतना ही नहीं राजपाल यादव ने यह भी कहा कि वो अपने ऊपर सुनाए गए कोर्ट के फैसले को बड़ी अदालत में चुनौती देंगे.

दरअसल राजपाल यादव ने शाहजहांपुर के आर्य महिला डिग्री कॉलेज में प्रेस कांफ्रेंस दौरान कहा कि वह कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं. इस दौरान राजपाल यादव काफी गुस्से में भी नजर आए. राजपाल यादव ने सफाई देते हुए कहा कि उन्‍हें पूर्व सपा सांसद और एक उद्यमी ने किसी साजिश के तहत फंसाया है. राजपाल यादव ने आगे इस बारें जानकारी देते हुए बताया कि साल 2012 में आई राजपाल की यादव की फिल्म ‘अता पता लापता’ की हिस्सेदारी में शाहजहांपुर के उद्योगपति माधौगोपाल अग्रवाल और पूर्व सपा सांसद मिथलेश कुमार ने 5 करोड़ रुपये लगाए थे. राजपाल यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि इसके बाद दोनों ने मीटिंग के दौरान धोखे से एक एग्रीमेन्ट पर साइन करवा लिए थे.

राजपाल यादव ने आगे यह भी कहा कि इस मामले में उनका 5 साल का करियर बर्बाद हो गया है. इसके अलावा उन्होंने अपनी फिल्म फ्लॉप होने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि राजपाल यादव कभी फ्लॉप नहीं हो सकता. इतना ही नहीं मैं जिदंगी भर फिल्मों के माध्यम से लोगों को हंसाता रहूंगा. बता दें कि दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने राजपाल यादव पर 11 करोड़ रु. का जुर्माना और 6 महीने कैद की सजा सुनाई थी. जिसके बाद कोर्ट ने राजपाल यादव को जमानत दे दी. इस सजा और जुर्माने के खिलाफ राजपाल यादव ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है.

क्वांटिको  की शूटिंग के दौरान प्रियंका चोपड़ा घायल, घुटने में गंभीर चोट

Photo: रेस 3 के सेट पर सलमान खान ने दिखाई बॉडी तो जैकलिन फर्नांडिस का हुआ ठंड से बुरा हाल